भारत माला प्रोजेक्ट का विरोध

SHARE WITH LOVE
  • 12
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    12
    Shares

भारत माला प्रोजेक्ट का विरोध बहुत ही बड़ी मात्रामे आदिवासिओ द्वारा वासदा नवसारी में चालू होचुका है ।

इस प्रोजेक्ट में आदिवासियोकी बहुतही सारी जम्मिने जा रही है ।

भारत देश के गुजरात राज्य के नवसारी जिले के वासदा गाव में आदिवासी इकठ्ठा होकर भारतमाला प्रोजेक्ट के विरोध में रैली निकाली गई और आवेदन दिया गया, सोचो ये तो एक गाव की बात है जिस दिन लाखोगाव सड़कों पर आ जाएंगे तो स्वायतराज लाना आसान हो जाएगा…

દિલ્લી થી મુંબઈ હાઇવે આદિવાસી વિસ્તાર માંથી લઇ જવાનું કારણ

દિલ્લી થી મુંબઈ હાઇવે આદિવાસી વિસ્તાર માંથી લઇ જવાનું કારણ

Posted by Dr Bhavin Vasava on Wednesday, 19 December 2018

जय आदिवासी

चुनावी साल में केंद्र सरकार ने भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत राज्य को तीन एक्सप्रेस-वे सड़क मार्ग दिए। जिसके कार्य जल्द ही शुरू होने वाला है। जिसको लेकर सरकार पूर्ण तैयारी कर रही थी। साथ ही इसको लेकर मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट को प्रजेंटेशन भी देखकर जल्द ही टेंडर जारी करने के निर्देश दिए थे। इस प्रोजेक्ट के तहत बन रहा एक्सप्रेस वे हाईवे नवसारी  जिले के वासदा उपखंड क्षेत्र से होते हुए गुजरेगा। वहीं इसके लिए एनएचएआई ने बाकायदा इसकी डीपीआर भी तैयार करवा दी है। वहीं मुख्यमंत्री की ओर से एनएचएआई की ली बैठक में अधिकारियों को निर्देशित किया था कि इन 2 महीनों में टेंडर कर काम शुरू कर दिया जाएगा। वहीं इसको लेकर सांचौर उपखंड क्षेत्र में विभाग ने सर्वे भी शुरू कर दिया है था ।

नेशनल हाईवे से तीन गुना अधिक होगी मजबूत

भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनने वाले एक्सप्रेस वे नेशनल हाईवे से तीन गुना मजबूत होगी। भारत माला रोड 10 मीटर चौड़ी होगी जबकि नेशनल हाईवे 7 मीटर चौड़े होते है। भारत माला रोड की स्ट्रेंथ 50 सेंटीमीटर और कई जगह इससे भी ज्यादा मजबूत होगी जबकि नेशनल हाईवे 20 सेंटीमीटर स्ट्रेंथ के ही होते है। नेशनल हाईवे की न्यूनतम गति 60 किमी प्रति घंटा जबकि भारत माला की 90 किमी प्रति. घंटा होगी। इस रोड की मजबूती इतनी अधिक होगी की फाइटर प्लेन की भी उतारे जा सकेंगे।

भूमि अवाप्ति की कार्रवाई को लेकर कलेक्टर होंगे सक्षम अधिकारी

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण विभाग ने भारतमाला परियोजना के तहत इकॉनोमिक कॉरिडोर परियोजना के अतिरिक्त भूमि अवाप्ति की कार्यवाही संपादित करने को लेकर सक्षम अधिकारी जिला कलेक्टर को नियुक्त किया गया है था।


SHARE WITH LOVE
  • 12
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    12
    Shares

One thought on “भारत माला प्रोजेक्ट का विरोध

Leave a Reply

Your email address will not be published.