राहुल गांधी आभार जता रहे थे, बाहर बसों को रोक-रोक बीयर बांटी जा रही थी!

SHARE WITH LOVE
  • 17
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    17
    Shares

हाल में हुए 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव सबको याद ही होंगे. इनमें से तीन मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने जीत हासिल की थी. अब तैयारियां लोकसभा चुनाव की चल रही हैं. वो भी कुछ ज्यादा ही जोर से. बीजेपी और कांग्रेस के नेता रैलियां तो कर ही रहे हैं. पर रैलियों में जुटानी होती है भीड़. इसके लिए पार्टियां अनेकों तिगड़म करती हैं. पर कांग्रेस ने एक और तरीका खोजा है. बीयर बांटकर भीड़ बुलाने का. वैसे ये तरीका तो पुरातन काल से चला आ रहा है. मगर छुप के होता था. पर कांग्रेस नेता इसे खुलेआम कर रहे हैं. मध्यप्रदेश में. अब भाई नई-नई सरकार बनी है. वो भी 15 साल बाद. तो इसका फायदा तो उठाएंगे ही. तो वही हो रहा है.


भोपाल में किसान आभार सम्मेलन था जिसमें राहुल भी पहुंचे थे.

वाकया भोपाल का है. पत्रिका में छपी खबर के मुताबिक यहां के जंबूरी मैदान में 8 फरवरी को कांग्रेस का आभार सम्मेलन था. इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी औऱ सीएम कमलनाथ भी आए थे. और इस मैदान से कुछ दूर भोपाल के ही मिसरोद इलाक में एक तंबू लगा था. तंबू में जिला कांग्रेस कमेटी सिवनी का बैनर लगा था. और यहां सिवनी से आने वाली बसों में बैठे लोगों को रोक-रोक बीयर बांटी जा रही थी. ये बसें उसी आभार सम्मेलन में जा रही थीं. तो थोड़ा आभार यहां जता दिया गया. जिस मिसरोद क्षेत्र में ये खुलेआम आभार व्यक्त किया जा रहा था, वहां के लोगों ने जब इसकी शिकायत पुलिस से की. तो पुलिस मौके पर पहुंची. पर जब सैयां भै कोतवाल तो डर काहे का. माने कांग्रेसियों ने पुलिस वालों को डांट-डपटकर वहां से भगा दिया. और फिर ये बियर बांटने का सिलसिला सुबह 11 बजे से 1 बजे तक चला.


ऐसे खुलेआम बांटी जा रही थी बीयर.(तस्वीर जर्नलिस्ट देवराज दुबे के फेसबुक पेज से ली है)

बताया जा रहा है कि सब पहले से तय था. वहां से गुजरने वाली बसों में किसी एक जिम्मेदार को पर्चियां दी गई थीं. तंबू में जैसे ही ये आदमी बस रोककर पर्चियां दिखाता तो उसे बीयर की पेटी मिल जाती. फिर कार्यकर्ता जमके आभार जताते. मामले में पुलिस का कहना है कि उन्होंने जब पुलिस और टीम मौके पर पहुंची तो तब तक वहां से तंबू हट चुका था.

नेताजी क्या बोले?

बैनर पर एक नेताजी का नाम भी लिखा था. राजकुमार खुराना. ये सिवनी के कांग्रेस नेता हैं. इन्होंने पत्रिका को बताया कि बीयर के कार्टून में बीयर नहीं थी, बल्कि खाना पैककर करके भेजा गया था. उसमें खाने के पैकेट थे. जब वहां खाली केन पड़े होने की बात की गई तो बोले किसी और ने गड़बड़ की होगी. हमने सिर्फ खाना भेजा था.

तो अब ये खाना बीयर कैसे बन गया, इसका जवाब तो जनता जरूर जानना चाहेगी. पर देगा कौन. पुलिस पहुंची तो टेंट गायब. नेताजी कह रहे खाना था. मीडिया को खाली केन दिख रहे… धन्य है अपने देश की राजनीति. लोग वोट और अपना कद ऊंचा करने के लिए कितना भी नीचे गिर सकते हैं. और अब तो ये खुलेआम हो रहा है.


SHARE WITH LOVE
  • 17
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    17
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.