पश्चिम बंगाल में पुलिस हिरासत में किशोर की मौत को लेकर हंगामा

SHARE WITH LOVE
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares

भाजपा ने इस मामले में शनिवार को मल्लारपुर इलाके में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है.

सूरी/कोलकाता:

पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले में पुलिस हिरासत में 15 वर्षीय किशोर की मौत के बाद शुक्रवार को गुस्साई भीड़ ने पुलिस थाने पर हमला कर दिया. भाजपा ने इस मामले में शनिवार को मल्लारपुर इलाके में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है. पुलिस का दावा है कि किशोर का शव बृहस्पतिवार रात मल्लारपुर थाने के शौचालय में लटका हुआ मिला था, जबकि भाजपा ने आरोप लगाया है कि पुलिसकर्मियों ने उसकी पिटाई की, क्योंकि उसके माता-पिता भाजपा के समर्थक हैं.

यह भी पढ़ें

हालांकि किशोर के पिता का कहना है कि वह तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) समर्थक हैं और उनके बेटे ने आत्महत्या की है. पुलिस ने कहा कि मामले की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया गया है. किशोर का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच तारापीठ श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया.

भाजपा और किशोर के कुछ पड़ोसियों का दावा है कि कुछ दिन पहले पुलिस उसे उठाकर ले गई थी. पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने कहा है कि चोरी के आरोप में बृहस्पतिवार दोपहर उसे हिरासत में लिया गया था और उसे मल्लारपुर थाने के अलग सुरक्षित कक्ष में रखा गया था.

अधिकारी ने कहा, ”कल रात करीब नौ बजकर 25 मिनट पर वह शौचालय में गया और फांसी लगा ली.” भारतीय जनता युवा मोर्चा की राज्य इकाई के अध्यक्ष तथा विष्णुपुर से सांसद सौमित्र खान पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठ गए और प्रभारी अधिकारी के इस्तीफे की मांग करने लगे.

भाजपा कार्यकर्ताओं ने कुछ स्थानीय लोगों के साथ मिलकर एक राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध कर विरोध करते हुए टायर भी जलाए. खान ने कहा, ”हमने शनिवार को मल्लारपुर में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है. अगर दोषियों को सजा नहीं मिली, तो हम राज्यव्यापी बंद बुलाएंगे.”

इससे पहले दिन में, गुस्साए स्थानीय लोगों ने थाने पर हमला करने का प्रयास किया. पुलिसकर्मियों ने जब उन्हें तितर-बितर करने की कोशिश की, तो उन्होंने उन पर पथराव किया. किशोर के पिता ने कहा है कि उनके बेटे ने आत्महत्या की है और वह किसी भी प्रकार की हिंसा नहीं चाहते.

मृतक के पिता ने पत्रकारों से कहा, ”मैं टीएमसी का समर्थक हूं. विभिन्न सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर हमें लगता है कि चोरी के आरोप में हिरासत में लिए गए मेरे बेटे ने फंदा लगाकर आत्महत्या की है. हमने पुलिस में शिकायत नहीं दी है.”
(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link


SHARE WITH LOVE
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares