20000 रुपये तक के बिजली बिलों पर विलम्ब शुल्क राशि माफ

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोलकता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी (भाजपा) की हार हो जानेके बाद पार्टी नेताओं में असंतुष्टि देखने के लिए मिल रही है. हाल ही में बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय ने एक फेसबुक पोस्ट किया है। उनके इस पोस्ट को देखने के बाद तरह-तरह के कयास लगने प्रारम्भ हो गए हैं. जी दरअसल अपनी पोस्ट में शुभ्रांशु ने बोला कि, ”पार्टी ममता सरकार की आलोचना बंद करे, आत्मनिरीक्षण करे.” बीते शनिवार रात को बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय ने एक फेसबुक पोस्ट लिखी. इस पोस्ट में उन्होंने बोला कि, ”जनता का समर्थन प्राप्त करके आई सरकार की आलोचना करने से पहले स्वयं का आत्मनिरीक्षण करने की आवश्यकता है. चुनी गई सरकार की आलोचना बंद करें और आत्मनिरीक्षण करें.”

आप सभी को हम यह भी बता दें कि शुभ्रांशु रॉय वर्ष 2019 में तृणमूल कांग्रेस पार्टी को छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. बीते दिनों ही हुए विधानसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी की टिकट पर बिजपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा था, लेकिन वह जीत ना सके। आपको पता ही होगा कि हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी चक्रवाती तूफान यास की तबाही का जायजा लेने बंगाल पहुंचे थे, यहाँ प्रदेश में उन्होंने समीक्षा मीटिंग भी की. लेकिन इस मीटिंग में प्रदेश की सीएम ममता बनर्जी 30 मिनट की देरी से पहुंचीं थीं और 20 हजार करोड़ रुपये की सहायता राशि की मांग वाली लिस्ट पीएम को देकर झट से निकल भी गईं.

उनके इस काम को लेकर बीजेपी नेताओं ने ममता को जमकर घेरा और इसके बाद ममता बनर्जी ने भी अपनी सफाई दी. उन्होंने अपनी सफाई में कहा, ‘ऐसा कहीं महत्वपूर्ण नहीं है कि एक सीएम हर बार पीएम को रिसीव करने पहुंचे. मुझे स्वयं वहां (पीएम की बैठक में) इन्तजार करना पड़ा. हम सागर पहुंचे तो हमें सूचना मिली कि हमें 20 मिनट और इन्तजार करना होगा क्योंकि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का हेलिकॉप्टर उतरना बाकी था. वे हमारे शेड्यूल से वाकिफ थे, फिर भी हमें इन्तजार करवाया. हमने हेलीपैड पर उनका इन्तजार किया.’

Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •