3 से 4 डिग्री बढ़ेगा पारा, इन जिलों में हो सकती है बारिश

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देहरादून: सरकार द्वारा जारी सीएम  वात्सल्य योजना छलावा है इससे अधिक कुछ नहीं ये बोलना है आम आदमी पार्टी की प्रदेश प्रतिनिधि उमा सिसोदिया का जिन्होंने तीरथ सरकार द्वारा जारी की गयी मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना पर प्रश्न उठाते हुए बोला कि ये योजना महज सरकार का दिखावा है, जिससे सरकार महज अपनी वाहवाही लूटने का कार्य कर रही है और कुछ नहीं

उमा सिसोदिया ने तीरथ सरकार से प्रश्न पूछते हुए बोला कि प्रदेश सरकार ये बताए कि
1 -सरकार 5 फीसदी रिज़र्वेशन किस आधार पर देने जा रही है
2 -क्या ये रिज़र्वेशन वर्तमान में एससी,एसटी,ओबीसी के रिज़र्वेशन की तर्ज पर दिया जाएगा या फिर इसके लिए सरकार कोई अन्य विकल्प की तलाश करेगी
3- यदि अलग से रिज़र्वेशन दिया जायेगा ,तो क्या ये माननीय उच्चतम न्यायालय के उस आदेश का उल्लंघन नहीं है,जिसमें उच्चतम न्यायालय ने बोला है कि ,किसी भी हालात में रिज़र्वेशन 50 प्रतिशत से अधिक नहीं हो सकता

उमा सिसोदिया ने बोला कि ,जिस तरह से सीएम तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट से वात्सल्य योजना का आदेश जारी किया है,उससे ऐसा लगता है कि, सरकार इस योजना को लेकर जरा भी गंभीर नहीं है उन्होंने बोला कि, सीएम ने आनन फानन में इस योजना के आरंभ का ओदश दे दिया, जबकि इसके लिए ना तो अधिकारीयों और ना ही किसी कैबिनेट मंत्री से विचार विमर्श किया गया

उन्होंने बोला कि, ये सरकार बीते चार वर्षों से प्रदेश की जनता को बरगलाने का कार्य करती आई है ,और एक बार फिर इतनी जरूरी योजना की गंभीरता को सरकार समझने को कतई तैयार नहीं है उन्होंने बोला कि ये योजना कई लोगों के लिए बहुत अधिक लाभकारी है ,लेकिन सरकार को देखकर ऐसा लगता नही कि, सरकार इसके लिए जरा भी गंभीर है

उन्होंने बोला कि, इस सरकार की आदत हवाई कार्य करने की है. ये सरकार कार्य कम और अपना प्रचार प्रसार अधिक करती है उन्होंने बोला कि, कोविड-19 काल के इस दौर में माननीय कोर्ट भी प्रदेश सरकार की ढिलाई को देखते हुए सरकार को फटकार लगा चुका है, जिससे ये जाहिर होता है कि, सरकार किसी भी योजना और काम को लेकर प्रदेश में जरा भी गंभीर नहीं है

उन्होंने बोला कि, वात्सल्य योजना भी सरकार का एक कोरा जुमला है जो बिना किसी सटीक योजना के , शीघ्र ही औंधे मुंह गिरेगी यदि सरकार को किसी भी योजना को अमल में लाना ही है तो, सरकार को उसको लेकर गंभीरता दिखाने की जरूरत है लेकिन लगता है कि, ये सरकार केवल विज्ञापनों तक ही सीमित हो चुकी है, जो जनता को झूठे विज्ञापनों से लुभाना चाहती है लेकिन, सच ये है कि, जनता को अब बरगलाना इतना सरल नहीं है और साथ ही आप पार्टी सरकार को आगाह करती है कि, यदि सरकार ने ऐसी अधूरी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने की प्रयास की तो आने वाले चुनावों में जनता इस सरकार को ऐसा सबक सिखाएगी कि अर्श से कब ये सरकार फर्श में पहुंच जाए, इस सरकार को पता तक नहीं चलेगा

Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •