Gujarat: केवडिया सफारी पार्क के लिए विदेश से लाये गये जानवरों की मौत से मची खलबली

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के परिसर के पास स्थापित जंगल सफारी पार्क के लिए विदेश से लाये गये जंगली प्राणियों की मौत होने से खलबली मच गयी है। केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने गुजरात के चीफ वाइल्ड लाइन वोर्डन को इस संबंध में जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिये है।

जानकारी के मुताबिक केन्द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के चिड़ियाघर प्राधिकरण को अजय दुबे नामक वाइल्डलाइफ एक्टिविस्ट ने शिकायत की थी कि गुजरात के भरुच जिले के केवड़िया कॉलोनी में स्थित सरदार वल्लभभाई पटेल की विश्व की सबसे ब़ड़ी प्रतिमा की शोभा बढ़ाने के लिए सरकार ने केवड़िया कॉलोनी में विश्वस्तरीय चिड़ियाघर बनाने का फैसला किया है।

इस चिड़ियाघर का उद्घाटन होना बाकी है। यहां 17 देशों में से जंगली प्राणियों को लाया गया है। यहां शेर, बाघ, तेंदुआ, 12 प्रकार के हिरण, जीराफ जंगली बैल और काले हिरण सहित प्राणियों को सफारी पार्क में रखा जायेगा। इस पार्क के लिए विदेश से लाये गये दो काले हिरण और एक जीराफ की शंकास्पद रुप से मौत हो गई है। यहां अवैध रुप से प्राणियों को लाया और रखा जा रहा है। जिससे उनकी मौत हो रही है। केन्द्र के चिड़ियाघर प्राधिकरण ने इसका संज्ञान लेते हे गुजरात सरकार को तुंरत ही जांच कर इसकी रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिये है। गुजरात सरकार के चीफ वाइल्ड लाइफ वोर्डन ने जांच शुरु की है।

गौरतलब है कि गुजरात में स्थापित देश पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर प्रतिमा विश्व की सबसे बड़ी प्रतिमा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 31 अक्टूबर 2018 के दिन उद्घाटन किया था। सरदार सरोवर बांध के पास नडाबेड टापू बर बने स्टेच्यू आफ यूनिटी के अलावा के लिए केवड़िया कोलोनी में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए 17 किमी लंबी फूलों की घाटी है। मूर्ति के पास पर्यटकों के लिए एक टेंट सिटी भी बनायी गयी है। यहां सरदार पटेल के जीवन को समर्पित एक संग्रहालय भी है। 


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.