अमेरिका में अगले 20 दिन में कोरोना ले सकता है 26000 जानें, फिर भी मास्क नहीं पहनने पर अड़े लोग

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से कम से कम 26000 लोग मर सकते हैं. यह अमेरिका का अपना आकलन है. लेकिन अमेरिका में कोरोना महामारी के दौरान मास्क पहनने या ना पहनने पर बहस चल रही है.


अमेरिका में कोरोना महामारी से मरने वालों की तादाद 11 जुलाई तक यानि अगले 20 दिन में 1 लाख 45 हज़ार तक पहुंच सकती है. यानि अगले क़रीब 20 दिन में अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से कम से कम 26000 लोग मर सकते हैं. यह अमेरिका का अपना आकलन है.
 

लेकिन अमेरिका में कोरोना महामारी के दौरान मास्क पहनने या ना पहनने पर बहस चल रही है. यहां कुछ लोगों का कहना है कि सिध्दांतत: यह लोगों का निजी फ़ैसला होना चाहिए कि वो मास्क पहनना चाहते हैं या नहीं. सरकार यह तय नहीं कर सकती कि एक अमरीकी नागरिक को ज़बरदस्ती मास्क पहनाया जाए. इन लोगों का कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग में कोई समस्या नहीं है. लेकिन सरकार लोगों को ज़बरदस्ती मास्क पहनाए यह मंजूर नहीं किया जा सकता. 

अमेरिका के फलोरिडा राज्य ने अभी तक मास्क पहनना अनिवार्य भी नहीं किया है. लेकिन कैलिफ़ोर्निया राज्य के गवर्नर गेविन न्यूसोम ने गुरूवार को फ़ैसला किया की यहां लोगों को अनिवार्य तौर पर मास्क पहनना ही होगा. कोरोना महामारी के बीच यह देश अमेरिकी मूल्यों और सिध्दांतों पर बहस कर रहा है. लोग यह बहस कर रहे हैं कि अमेरिका के लोगों के जीने के तरीके को सरकार किस हद तक बदलने का अधिकार रखती है. ज़्यादातर लोग ये मानते हैं कि मास्क पहनने या ना पहनने का फ़ैसला लोगों का निजी फ़ैसला होना चाहिए.  

अमेरिका में मास्क पहनना अनिवार्य होनो चाहिए या नहीं यह अब एक वैचारिक और सैध्दांतिक सवाल बन रहा है. इससे पहले हेलमेट पहन कर दोपहिया चलाने का नियम या फिर स्मोकिंग जैसे मसलों पर भी व्यक्तिगत आज़ादी की बहस अमेरिका में हो चुकी है. 

कई वैज्ञानिक शोध ये दावा कर चुके हैं कि मास्क पहनने से कोरोना संक्रमण का फैलाव रुकता है. कुछ लोग मास्क पहनने को एक सामाजिक ज़िम्मेदारी मानते हैं. ये लोग कहते हैं कि देश के लोगों को दूसरे नागरिकों की सुरक्षा के लिए इतना त्याग करना ही चाहिए. 


लेकिन अमेरिका में यह सवाल अब राजनीतिक और विचारधारात्मक सवाल बन चुका है. मसलन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप खुद मास्क नहीं पहनते हैं. वो जब अपने स्टाफ़ के साथ भी होते हैं तो भी वो मास्क नहीं पहनते. इतना ही नहीं उनकी प्रैस सैक्रेटरी ने भी कहा है कि वो मास्क नहीं पहनेंगी. उन्होने कहा कि वो शनिवार को डोनाल्ड ट्रंप की चुनाव सभा में भी बिना मास्क पहने ही शामिल होंगी.

डोनाल्ड ट्रंप और उनके आसपास के लोग ही मास्क ना पहनने को एक व्यक्तिगत आज़ादी बता रहे हैं. मास्क अमेरिका में इतना बड़ा मुद्दा बन चुका है कि इसी हफ़्ते नॉर्थ कैरोलीना में लोगों ने लाखों मास्क जला दिए और उसके उपर हॉटडॉग सेक लिए. 

source


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •