ISI का पूर्व चीफ खुलेआम पुलवामा जैसे हमले की धमकी दे रहा है

SHARE WITH LOVE
  • 18
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    18
    Shares

जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले पर आपने इंडियन मीडिया की कवरेज तो देख ली होगी. अब पाकिस्तानी मीडिया की कवरेज भी देख लीजिए. पाकिस्तान के लगभग सभी अखबारों ने कश्मीर को इंडियन ऑक्युपाइड कश्मीर ही कहा है. वहीं एक अखबार ने आतंकियों को फ्रीडम फाइटर तक लिखा है.

पाकिस्तान ऑब्जर्बर की हेडलाइन देखिए, लिखा “भारत अधिकृत कश्मीर में हुए विस्फोट में 44 भारतीय सैनिकों की मौत, दर्जनों घायल” इसी के साथ अखबार ने भारतीय सुरक्षाबलों पर पिछले 2 सालों में सबसे घाटक हमला भी बताया है. उन्होंने आगे विस्फोट की इंटेंसिटी के बारे में भी लिखा.


पाकिस्तान ऑब्ज़र्वर अखबार की खबर का स्क्रीनशॉट

अब ट्रिब्‍यून की हेडिंग पर नज़र दौड़ाइये, लिखा है भारत अधिकृत कश्‍मीर में 44 भारतीय सैनिकों की सुसाइड अटैक में मौत, ये भी कश्मीर को भारतीय ऑक्युपाइड कश्मीर ही बताते हैं.


द ट्रिब्यून अखबार का स्क्रीनशॉट

अब एक नज़र डॉन पर मारिए. भारत में हुए आतंकी हमले पर खबर तो इन्होंने बहुत छोटी सी की है. लेकिन हमले में पाकिस्तान को क्लीन चिट दे दिया है.

पाकिस्तान टुडे की खबर को देखिए. खबर देखने के बाद आपको समझ में आ जाएगा कि कुछ नया नहीं लिखा है. लिखा वहीं हो जिस मोड में पाकिस्तान हमेशा रहता है. ‘डिनायल मोड’. इस अखबार में खबर तो बस एक लाइन में की है, लेकिन नीचे में इस हमले में पाकिस्तान के हाथ होने से भी इनकार किया है.

इसी बीच पाकिस्तान का एक और अखबार है ‘द नेशन’. इन्होंने आतंकियों को फ्रीडम फाइटर बताया है. लिखा है “आज़ादी के लड़ाकों ने हमला बोला, भारत अधिकृत कश्मीर में 44 सैनिकों की मौत”


पाकिस्तान का अखबार ‘द नेशन’ का स्क्रीन शॉट

पाकिस्तान के रिटायर जनरल और आईएसआई चीफ अमजद सुऐब को देखिए. ये टीवी पर बैठ कर खुले आम सुसाइड बॉम्बर्स को उकसा रहा है. खुले आम ऐसे फिदायीन हमले की धमकी दे रहा है

दूसरी तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भी आधिकारिक तौर पर इस हमले की निंदा नहीं की है. हालांकि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट कर खानापूर्ति ज़रूर कर दिया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्त ने ट्वीट कर हमले की निंदा की और भारत के आरोपों को खारिज कर दिया.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय का बयान

भारत में हुए हमले पर कुल जमा पाकिस्तान ने इतना ही किया है. वैसे पाकिस्तान से इससे ज्यादा उम्मीद एक तरह से बेमानी होती.


SHARE WITH LOVE
  • 18
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    18
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.