चांद पर पहुंचने के 50 साल

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आज ही के दिन 1969 में नील आर्मस्ट्रॉन्ग, माइकल कॉलिंस और एडविन ‘बज़’ ऑल्ड्रिन समेत अन्य तीन अंतरिक्ष यात्री चांद पर उतरे थे. देखिए उनका यह सफ़र तस्वीरों में.

अपोलो 11 के कमांडर नील ए आर्मस्ट्रॉन्ग अंतरिक्ष यान संचालन भवन में शुभचिंतकों को हाथ लहराते हुए, उनके साथ माइकल कॉलिन्स और एडविन ई एल्ड्रिन जूनियर. ये पहले मानवयुक्त चांद के लैंडिंग मिशन के लिए लॉन्च कॉम्प्लेक्स 39ए में ले जाने की तैयारी के दौरान.

50 साल पहले एगो अपोलो 11लॉन्च किया गया था

अपोलो 11 बैकअप चालक दल के सदस्य फ्रेड हाइस (बाएं) और जिम लवेल ने ऊंचाई परीक्षण के लिए लूनर मॉड्यूल में प्रवेश करने की तैयारी के दौरान.

चांद पर अपोलो 11 के उतरने के दौरान 70 मिमी चांद सतह के कैमरे से खींची गई तस्वीर.  तस्वीर में चांद की मिट्टी में अंतरिक्ष यात्री बज़ एल्ड्रिन के बूटप्रिंट का नज़दीकी दृश्य.

अपोलो 11 के कमांडर के रूप में नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने ऐतिहासिक मूनवॉक से अधिकांश तस्वीरें लीं, लेकिन साथी वॉकर बज़ एल्ड्रिन के इस दुर्लभ शॉट ने आर्मस्ट्रांग को चांद के मॉड्यूल ईगल के पास काम करते हुए दिखाया.

ट्रैंक्विलिटी बेस पर लूनर मॉड्यूल की यह तस्वीर नील आर्मस्ट्रांग ने अपोलो 11मिशन के दौरान ली थी. चांद की सतह पर लिटिल वेस्ट क्रेटर के रिम से ये तस्वीर ली गई थी. आर्मस्ट्रांग की छाया और कैमरे की छाया ज़मीन पर दिखाई दे रही है. यह चंद्रमा पर रहते हुए या तो अंतरिक्ष यात्री द्वारा चंद्र मॉड्यूल से सबसे ज़्यादा तय की गई दूरी है.

अमरीकी राष्ट्रपति निक्सन चांद से वापसी वाले अपोलो 11 अंतरिक्ष के यात्रियों को बधाई देते हुए.


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.