पुलवामा आतंकवादियों से 18 घंटे चली मुठभेड़, 3 आतंकी ढेर, 5 सुरक्षाकर्मी शहीद

SHARE WITH LOVE
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को सुरक्षबालों ने दक्षिण कश्मीर में हुए एक एनकाउंटर में ढेर कर दिया है. मरने वाले आतंकियों में 14 फरवरी को हुए सीआरपीएफ काफिले पर हमले की साजिश रचने वाला एक संदिग्ध आतंकी ‘कामरान’ को मार गिराया है. इस एनकाउंटर में सेना के एक मेजर समेत चार अन्य सुरक्षाकर्मी भी शहीद हुए हैं.

एनकाउंटर के दौरान क्रॉस फायरिंग में एक आम नागरिक की भी मौत हो गई. घायल होने वालों में दक्षिण कश्मीर के डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस अमित कुमार, ब्रिगेडियर, एक लेफ्टिनेंट कर्नल, मेजर, और चार अन्य सेना के अधिकारी घायल हुए. सुरक्षा बल आतंकियों के खिलाफ पुलवामा जिले के पिंगलन इलाके में ऑपरेशन चला रहे थे. यह सैन्य ऑपरेशन 14 फरवरी को हुए आंतकी हमले से महज 12 किलोमीटर दूर चलाया गया.

जम्मू और कश्मीर पुलिस कामरान की तलाश में थी. आतंकी कामरान दक्षिण कश्मीर के पुलवामा, त्राल और अवंतीपोरा इलाके का डिवीजनल कमांडर है. ऐसा माना जा रहा है कि 40 सीआरपीएफ जवानों पर हमले की साजिश रचने में कामरान भी शामिल था.

अधिकारियों ने कहा कि पिंगलान मुठभेड़ में चार सैन्यकर्मी, एक पुलिसकर्मी शहीद हुए वहीं तीन जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी और एक नागरिक मारे गए. मारे गए आतंकवादियों में जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी कामरान, एक पाकिस्तानी नागरिक और आतंकी समूह द्वारा भर्ती किए गए स्थानीय हिलाल अहमद के रूप में की गई. उन्होंने कहा कि तीसरे आतंकी की पहचान की जा रही है.

इस एनकाउंटर में मेजर वीएस ढोंडियाल, हवलदार श्यो राम, सिपाही हरि सिंह और अजय कुमार शहीद हुए हैं. इस हमले में एक पुलिस का एक हेड कॉन्सटेबल भी शहीद हुआ है.

दक्षिण कश्मीर के डीआईजी अमित कुमार को गोली लगी है. हालांकि उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है. एक ब्रिगेडियर कमांडर को गोली लगी है. पुलिस को इस बात की जानकारी मिली थी कि आतंकी यहां छिपे हुए हैं.


SHARE WITH LOVE
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.