रायपुर: आदिवासी छात्राओं ने घुटनों के बल रेंगकर मांगा अपना हक

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

माकपा और जनौस के नेतृत्व में छात्रों ने सोमवार को धरना-प्रदर्शन कर रैली निकाली, जिसमें बस्तर, सरगुजा और जशपुर से आए छात्राओं ने अपनी लंबित मांगे रखीं। उनकी मांगों में छात्रवृत्ति देने और यूरोपियन कमीशन से किए गए करार के अनुसार उन्हें स्टाफ नर्स की नौकरी देने की मांग मुख्य है। सभी प्रदर्शनकारी छात्र कलेक्टोरेट परिसर में कुछ देर धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री आवास की ओर बढ़े। प्रदर्शनकारी अपने घुटनों के बल रेंगते हुए आगे बढ़ रहे थे। जैसे ही वे घड़ी चौक पहुंचे, प्रशासन ने उन्हें वहीं रोक दिया गया। प्रदर्शनकारी मुख्यमंत्री निवास तक जाने की जिद पर अड़े रहे, जिसके चलते कुछ देर के लिए यातायात अस्त-व्यस्त हो गया। बाद में सभी को समझा-बुझाकर मुख्यमंत्री आवास तक नहीं जाने दिया गया। गर्मी व तपिश के कारण कुछ छात्राएं रेंगते समय बेहोश भी हो गई थीं।

प्रदर्शनकारियों ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपा जिसमें छात्रवृत्ति और नौकरी देने की मांग के साथ ही निजी कॉलेजों द्वारा मांगी जा रही अनाप-शनाप फीस पर रोक लगाने, सरकारी कॉलेजों में पढ़ रही छात्राओं को छात्रावास राशि देने, जिन छात्राओं ने पढ़ाई छोड़ दी है, उन्हें फिर से नर्सिंग प्रशिक्षण में प्रवेश देने की मांग शामिल हैं। उनकी मांगों से सरकार को अवगत कराने का आश्वासन दिया गया है।

Source:


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.