उच्च शिक्षा में 13 प्वाइंट रोस्टर का देशब्यापी विरोध- बहुजन समाज के लिए फांसी का फंदा है 13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली…..

SHARE WITH LOVE
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

देश भर का जागरूक बहुजन समाज यूनिवर्सिटीज में लागू किये गए 13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली के विरोध में सड़कों पर है।बड़ी कठिन परिस्थितियां हैं।बुद्धिजीवी लड़ रहे हैं,छात्र नारे लगा रहे हैं और मनुवादी व्यवस्था लागू करने की जिद ठाने लोग रोज-रोज सामाजिक न्याय विरोधी फैसले कर रहे हैं।

आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति । 10 % सवर्ण आरक्षण और 13 point रोस्टर के खिलाफ सड़क पर संघर्ष ।

Posted by अछूत The Untouchable on Friday, 25 January 2019

Posted by Chandra Bhushan Singh Yadav on Wednesday, 30 January 2019

2 अप्रैल 2018 को देश भर मे एससी/एसटी एक्ट को लेकर एक स्वस्फूर्त आंदोलन हुवा था जिसमे दर्जन भर लोगो को शहादत देनी पड़ी थी लेकिन सत्ता में बैठे मनुवादी लोगो को सँविधान संशोधन करने को बाध्य होना पड़ा था।कुछ ऐसा ही करना पड़ेगा अब इस सवाल को लेकर।

Posted by Chandra Bhushan Singh Yadav on Wednesday, 30 January 2019


उच्च शिक्षा में 13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली बहुजन समाज के लिए फांसी का फंदा है।इस व्यवस्था के तहत कहीं कोई दलित/पिछड़ा उच्च शिक्षण संस्थानों में अध्यापक नही हो सकेगा।बहुत स्पष्ट है कि अभी जब एकाध दलित/पिछड़े अध्यापक यूनिवर्सिटीज में हैं तो कहीं रोहित बेमुला, तो कहीं परमात्मा यादव, तो कहीं रजनीकांत यादव आदि मारे जाते हैं।यदि बिलकुल शून्य हो गया तो क्या हश्र होगा,कल्पना कर रूह कांप जाती है?

13 point रोस्टर के ख़िलाफ़ दिल्ली में विशाल जन आंदोलन। मंडी हाउस से जंतर मंतर

Posted by अछूत The Untouchable on Thursday, 31 January 2019


31जनवरी 2019 को मंडी हाउस दिल्ली से संसद मार्ग तक आक्रोश मार्च और 29 जनवरी 2019 को कांस्टीच्यूशनल भवन में इस मुद्दे को लेकर गोष्ठी देश को गरम कर रही है।भारत बंद की योजना पर भी काम हो रहा है।देश भर के छात्र व अध्यापक आंदोलित हैं,बस जरूरत वंचित-पिछड़ी जमातों की पार्टियों को इसे मुद्दा बनाने की है,सड़क से लेकर संसद तक गरमाने की है।

Posted by Chandra Bhushan Singh Yadav on Wednesday, 30 January 2019


13 प्वाइंट रोस्टर बहुत ही महत्वपूर्ण इशू है।इसके लागू होने से पूरी 85 प्रतिशत कम्युनिटी उच्च शिक्षा के क्षेत्र से बिना कुछ किये-दिए बाहर हो जाएगी।बहुत ही सोचे-समझे षणयंत्र के तहत 200 प्वाइंट रोस्टर को बदल कर 13 प्वाइंट किया गया है।”न रहेगा बांस,न बजेगी बाँसुडी” के कहावत को ध्यान में रखते हुये यूनिवर्सिटीज व उच्च शिक्षण संस्थानों को इकाई मानकर आरक्षण लागू करने की बजाय विभाग को इकाई मानकर नियुक्ति करने से स्वयं ही दलित/पिछड़े किनारे हो जाएंगे।
तेजस्वी यादव जी सहित वे तमाम नेता जो लोग सड़क पर इस मुद्दे को लेकर उतर रहे हैं वे वंचित समाज के बीच अपना इतिहास बना रहे हैं।मुद्दों व विचारों से समझौता करने वाले लोग इतिहास के पन्नो में गुम हो दफन हो जाते हैं।तेजस्वी यादव जी का यह बयान कि एक भी सीट मिले या न मिले पर सामाजिक न्याय से समझौता नही होगा,गजब का बयान है।
13 प्वाइंट रोस्टर को लेकर देश भर में ज़ोरदार आंदोलन होना चाहिए।अधिकारों के प्रति सजग समाज ही अपने वर्ग के तरक्की की राह दिखा व बता सकता हैं।

सवर्ण आरक्षण राष्ट्र द्रोही है।

Posted by अछूत The Untouchable on Wednesday, 16 January 2019

SHARE WITH LOVE
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.