बैतूल / बैतूल सांसद ज्योति धुर्वे का अनुसूचित जनजाति का प्रमाण-पत्र निरस्त किया

SHARE WITH LOVE
  • 45
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    45
    Shares

जनजातीय कार्य विभाग की रिपोर्ट के बाद कलेक्टर की कार्रवाई

फर्जी जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के मामले में फंसीं बैतूल से भाजपा सांसद ज्योति धुर्वे का प्रमाण-पत्र बैतूल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने निरस्त कर दिया है। जनजातीय कार्य विभाग की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि धुर्वे बिसेन/पवार हैं और यह मप्र में अनुसूचित जनजाति के रूप में अधिसूचित नहीं है।  कलेक्टर ने रिपोर्ट संसदीय कार्य विभाग के प्रमुख सचिव को भेजी है। जनजातीय कार्य विभाग ने खुलासा किया है कि धुर्वे की मां गोंड जनजाति और पिता महादेव बिसेन/पंवार जाति के हैं। 

धुर्वे अपने पिता की जाति ही ग्रहण करती हैं इसलिए वे भी उक्त जाति की हैं जिसके उनके पिता हैं। यह जाति अनुसूचित जनजाति में लिस्टेड नहीं है। अधिकारियों के मुताबिक सांसद पर कूटरचित दस्तावेज बनवाने का मामला भी दर्ज किया जा सकता है।

छिन सकता है पद, रिकवरी भी हो सकती है 

फर्जी जातिप्रमाण पत्र के मामले में सांसद का पद छिन सकता है। अगर सांसद इस संबंध में अपील करती हैं तो उन्हें कोर्ट से रिलीफ भी मिल सकता है। ऐसे में रिकवरी का भी प्रावधान है। लेकिन, सांसद के मामले में राष्ट्रपति और निर्वाचन आयोग ही फैसला लेंगे। -बीडी इसराणी, पूर्व प्रमुख सचिव, विधानसभा


SHARE WITH LOVE
  • 45
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    45
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.