मंच तैयार, पब्लिक भी पहुंच गई मगर नहीं हो सकी आदिवासी अस्तित्व बचाओ रैली

SHARE WITH LOVE
  • 36
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    36
    Shares

23 को मिली अनुमति, 24 को अनुमति हुई रद्द, 25 को कार्यक्रम स्थल में आयोजकों को प्रशासन ने दिखाई आदेश की कॉपी

जय आदिवासी युवा शक्ति (जीयस) द्वारा हरमू मैदान में सरहुल मिलन समारोह सह आदिवासी अस्तित्व बचाओ महारैली का आयोजन किया गया था। इस रैली में मंच, साउंड सिस्टम, पंडाल तैयार थे। पब्लिक भी सुबह 11 बजे तक दो से तीन हजार संख्या पहुंच चुके थे। मगर रैली आयोजित नहीं हो सकी। प्रशासन की टीम सुबह 11 बजे के करीब मैदान में आ धमके और आयोजकों को बताया कि अनुमति आदेश स्थगित कर दिया है। इसलिए अब यह कार्यक्रम नहीं होगा। प्रशासन के आदेश पर साउंड सिस्टम एवं मंच के सजावट को खोल दिया गया। इससे जीयस के झारखंड प्रभारी संजय पाहन, वीरेंद्र पाहन एवं एस अली सकते में आ गए। बाद में जनता को समझा बुझाकर भेजना शुरू किया, जबकि 2 बजे तक विभिन्न क्षेत्रों से लोगों का मैदान में आना जारी रहा।

यह था अनुमति एवं स्थगित करने का आदेश
अनुमंडल कार्यालय, सदर रांची द्वारा 23 मार्च को आदिवासी समाज के जन मुद्दों पर चर्चा के लिए आम सभा कार्यक्रम करने की तय सामान्य शर्तों के साथ अनुमति प्रदान की गई। पुन: अनुमंडल कार्यालय, सदर रांची द्वारा 24 मार्च को आदेश जारी करते हुए कहा गया कि अंचल पदाधिकारी अरगोड़ा, थाना प्रभारी अरगोड़ा के संयुक्त प्रतिवेदन के अवलोकन के बाद ऐसा प्रतीत होता है कि इससे शांति व्यवस्था एवं विधि-व्यवस्था भंग होने की प्रबल संभावना है। आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का भी मामला बन सकता है। इस कारण निर्गत आदेश रद्द किया जाता है।

आदिवासियों के विरूद्ध गहरी साजिश, बर्दाश्त नहीं: संजय पाहन
संजय पाहन ने कहा कि यह कैसे हो सकता है। 23 मार्च को प्रशासन ने अनुमति पत्र सौंपा था। अगर रद्द किया गया था तो उसकी जानकारी 24 को ही देनी चाहिए थी। जानकारी मिल जाने से वे लोग अपने लोगों को सूचना देकर कार्यक्रम स्थगित कर देते। पाहन ने कहा कि पूरे आयोजन में मैदान बुकिंग से लेकर अन्य व्यवस्था में 2 लाख रुपए से अधिक का खर्च आया है। रांची सहित दूसरे जिले से लोग पहुंच गए। यह पूरी तरह गलत है। पाहन ने कहा कि यह आदिवासियों के विरूद्ध गहरी साजिश है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


SHARE WITH LOVE
  • 36
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    36
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.