इस देश में लीगल करेंसी बना Bitcoin, अब कैफे से लेकर ग्रॉसरी स्टोर तक क्रिप्टोकरेंसी से कर सकेंगे पेमेंट

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


Bitcoin को लेकर दुनिया के कई देशों में अकसर बवाल होता रहता है। जहां एक ओर कुछ देश क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrencies) पर बैन लगा रहे हैं या इसके लिए नए और सख्त नियम लागू कर रहे हैं। वहीं, दूसरी एक ऐसा सेंट्रल अमेरिकी देश भी है, जो मंगलवार को दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है, जहां क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin को लीगल टेंडर (आधिकारिक करेंसी का दर्जा) दे दिया गया है। हम El Salvador की बात कर रहे हैं। देश की सरकार ने बिटकॉइन को आधिकारिक दर्जा दिया है, लेकिन इससे वहां की जनता में आक्रोश भी है। लोगों का कहना है कि यह कदम उपभोक्ताओं के लिए जोखिम है। हालांकि, El Salvador के राष्ट्रपति नईब बुकेले (Nyib Bukele) की सरकार का दावा इससे परे हैं। सरकार का कहना है कि इस कदम से कई देशवासियों की पहली बार बैंक सेवाओं तक पहुंच बनेगी। 

नईब बुकेले ने सोमवार को बिटकॉइन को देश में आधिकारिक करेंसी का दर्जा मिलने को लेकर एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा (अनुवादित) “कल [मंगलवार] इतिहास में पहली बार सारी दुनिया की नजरें अल सल्वाडोर पर होंगी।’ इसके बाद मंगलवार को कुछ ट्वीट्स के जरिए उन्होंने बताया कि उनकी सरकार ने अपने पहले 400 बिटकॉइन खरीद लिए हैं।

यदि आप इस फैसले से पहले की कहानी नहीं जानते हैं, तो बताते चलें कि जून में अल सल्वाडोर की संसद ने एक कानून पारित किया था, जिसमें यह प्रावधान किया गया था कि अब क्रिप्टो मनी भी लीगल टेंडर होगा, जिसका इस्तेमाल प्रोडक्ट्स और सर्विस के लिए पेमेंट के तौर पर किया जा सकेगा। यह प्रस्ताव रखने के कुछ ही घंटों मे पास भी हो गया। हालांकि इस फैसले से कई लोग नाखुश भी हैं।

कई लोगों व एक्सपर्ट का मानना है कि क्रिप्टोकरेंसी बेहद परिवर्तनशील करेंसी है, यानी क्रिप्टो कॉइन्स की कीमतें अस्थिर रहती हैं। यदि आप क्रिप्टोकरेंसी मार्केट पर नज़र रखते हैं, तो आप जानते होंगे कि कई मार्केट में कई क्रिप्टो कॉइन्स (Crypto coins) ऐसे हैं, जिनकी कीमत रातों-रात आसमान छू जाती है और अगले ही दिन जमीन पर होती है। यही कारण हैं कि सरकार के इस फैसले का विरोध भी हो रहा है।  

एक हालिया ओपनियन पोल में सामने आया था कि अल सल्वाडोर (El Salvador) के 6.5 मिलियन (65 लाख) लोग इस फैसले के खिलाफ थे। फैसला लागू होने से पहले ही राजधानी सैन सल्वाडोर में सैकड़ों लोगों ने इसे लेकर विरोध-प्रदर्शन भी किए थे। लोगों का कहना है कि बिटकॉइन ऐसी करेंसी है, जो गरीबों के बजाय अमीरों का भला करेगी।

सरकार इस फैसले को सही मानती है और लोगों को Bitcoin में अधिक रूची दिलाने के लिए कई ऑफर भी पेश किया है। सरकार ने वादा किया है कि इस क्रिप्टोकरेंसी को अपनाने वाले नागरिकों को 30 डॉलर (लगभग 2,200 रुपये) मिलेंगे। सरकार ने देशभर में 200 से ज्यादा बिटकॉइन एटीएम भी लगाने का फैसला लिया है।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें





Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •