Mozilla ने क्रिप्‍टो डोनेशन पर लगाई रोक, Dogecoin के को-फाउंडर को आया ‘गुस्‍सा’

SHARE WITH LOVE


क्रिप्‍टोकरेंसी Dogecoin के को-फाउंडर बिली मार्कस ने पॉपुलर ब्राउजर ‘Firefox’ को चलाने वाली ‘Mozilla’ पर हमला बोला है। Mozilla ने क्रिप्‍टो माइनिंग के पर्यावरण पर पड़ने वाले असर का हवाला देते हुए क्रिप्‍टोकरेंसी के रूप में लिए जा रहे डोनेशन को रोक दिया है। यह डोनेशन Mozilla फाउंडेशन की ओर से लिया जा रहा था। इसके जवाब में बिली मार्कस ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी। उन्‍होंने Mozilla के इस फैसले को ‘मूर्खता’ बताते हुए इंटरनेट मॉब के सामने झुकने का आरोप लगाया। बिली मार्कस ने Mozilla के कदम पर असहमति जताई। उन्‍होंने पेपर डॉलर और पारंपरिक बैंकिंग इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के पर्यावरण पर पड़ने वाले इम्‍पैक्‍ट की ओर इशारा किया है। 

Mozilla के खिलाफ लोगों का गुस्‍सा 31 दिसंबर को शुरू हुआ। कंपनी ने अपने यूजर्स को याद दिलाया कि वे Dogecoin, Bitcoin और Ether में Mozilla फाउंडेशन को दान कर सकते हैं। कंपनी का यह फाउंडेशन BitPay प्लेटफॉर्म के जरिए क्रिप्टो में डोनेशन स्वीकार कर रहा था।

इस पोस्ट को लेकर Mozilla की काफी आलोचना की गई। कई लोगों ने यहां तक कहा कि Mozilla फाउंडेशन अपनी इमेज को धूमिल कर रहा है। कुछ लोगों ने तो भविष्य के दान को रद्द करने की धमकी भी दी। असहमति जताने वालों में Mozilla के को-फाउंडर जेमी जविंस्की भी शामिल थे।

जविंस्की की नाराजगी एक ट्वीट तक सीमित नहीं रही। उन्होंने अपनी वेबसाइट पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखा। कहा कि क्रिप्टो इंडस्‍ट्री का बिजनेस मॉडल अवास्तविक है। ‘वे केवल प्रदूषण का निर्माण करते हैं और कुछ नहीं और वे इसे पैसे में बदल देते हैं।’ इसके बाद Mozilla ने क्रिप्टो डोनेशन को रोकने का फैसला किया। कंपनी ने क्रिप्टोकरेंसी के पर्यावरणीय पर पड़ रहे असर पर चर्चा की। कंपनी ने कहा कि वह क्रिप्टो के रूप में लिए जा रहे डोनेशन पर अपनी पॉलिसी की समीक्षा करेगी। 

Mozilla पिछले कई साल से क्रिप्टोकरेंसी में डोनेशन स्वीकार कर रही थी। ज्‍यादा क्रिप्टो आलोचकों को इसकी जानकारी नहीं थी। बिटकॉइन के रूप में क्रिप्‍टो डोनेशन लेने के लिए Mozilla फाउंडेशन ने 2014 में कॉइनबेस के साथ पार्टनरशिप की थी। इसके अलावा, इसके क्रिप्टोकरेंसी डोनेशन फौरन फिएट करेंसी में बदल जाते हैं। हालांकि Mozilla द्वारा क्रिप्‍टो के रूप में लिए जा रहे डोनेशन को रोके जाने से क्रिप्‍टो समर्थक भी नाराज हैं। उनका कहना है कि वे Firefox ब्राउजर का इस्‍तेमाल करना बंद कर देंगे। 

 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें





Source link


SHARE WITH LOVE