डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने फेसबुक पर दर्ज कराया मुकदमा, अमेरिकन को जॉब देने में भेदभाव के आरोप

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


आरोप लगाया गया है कि फेसबुक ने जनवरी 2018 से लेकर सितंबर 2019 तक कुल 2600 लोगों को जॉब ऑफर किया है जिनकी औसत सैलरी 1.56 लाख डॉलर है.

खास बातें

  • अमेरिकी ट्रंप प्रशासन ने दिग्गज कंपनी फेसबुक पर दर्ज कराया मुकदमा
  • नौकरी देने में अमेरिकी नागरिकों के साथ भेदभाव के आरोप
  • डोनाल्ड ट्रंप अपने कार्यकाल के अंतिम महीने में चल रहे

वाशिंगटन:

अमेरिका के डोनाल्ड ट्रंप  (Donald Trump) प्रशासन ने गुरुवार को दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक (Facebook) पर एक मुकदमा दर्ज कराया है और उच्च वेतन वाली नौकरियों में अमेरिकी लोगों से भेदभाव करने के आरोप लगाए हैं. आरोप में कहा गया है कि कंपनी अप्रवासी श्रमिकों की मदद कर उन्हें हाई सैलरी पर रखती है जबकि अमेरिकी लोगों को अवसर मुहैया नहीं कराती है.

यह भी पढ़ें

अमेरिकी न्याय विभाग के मुकदमे ने तकनीकी कंपनियों के खिलाफ एक नया मोर्चा खोल दिया है. इस कार्रवाई को राष्ट्रपति ट्रम्प की आव्रजन नीति के एक हिस्से के रूप में देखा जा रहा है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपने कार्यकाल के अंतिम महीने में हैं.

मुकदमे में आरोप लगाया गया है कि फेसबुक ने जनवरी 2018 से लेकर सितंबर 2019 तक कुल 2600 लोगों को जॉब ऑफर किया है जिनकी औसत सैलरी 1.56 लाख डॉलर है.

‘चार साल बाद फिर मिलेंगे’, डोनाल्ड ट्रंप ने पेश कर दी 2024 के अमेरिकी चुनावों में उम्मीदवारी

न्याय विभाग के नागरिक अधिकार प्रभाग के सहायक अटॉर्नी जनरल एरिक ड्रिबैंड ने आरोपों को सार्वजनिक करने वाले एक आधिकारिक बयान में कहा, “फेसबुक इच्छुक और योग्य अमेरिकी श्रमिकों पर विचार करने के बजाय अस्थायी वीज़ा धारकों के लिए अलग-अलग स्थान निर्धारित करके, जानबूझकर भेदभाव कर रहा है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कानून के उल्लंघन में संलग्न है.”

Newsbeep

US में रहने वाले हजारों भारतीय को बड़ी राहत, ट्रंप की ओर से लाए गए H-1B नियमों पर लगी रोक

न्याय विभाग के अधिकारी ने आरोप लगाया कि फेसबुक ने H1-B वीजाधारी ‘स्किल्ड वर्कर” या अन्य अस्थायी वीजाधारी वाले उम्मीदवारों के लिए पदों को आरक्षित कर रखा है. आरोप में यह भी कहा गया है कि फेसबुक अपनी वेबसाइट पर वैकेंसी की सूचना दिए बिना सीधे वीजाधारकों को जॉब ऑफर करता है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •