ब्राजील के प्राइवेट क्लीनिकों ने दिखाई भारतीय कोरोना वैक्सीन की 50 लाख डोज खरीदने में दिलचस्पी

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ को मंजूरी मिल गई है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • प्राइवेट क्लीनिक खरीद सकते हैं ‘कोवैक्सीन’
  • ‘कोवैक्सीन’ की 50 लाख डोज की डील
  • भारत बायोटेक की वैक्सीन है ‘कोवैक्सीन’

रियो डे जेनेरियो:

ब्राजील की प्राइवेट हेल्थ क्लीनिक एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने रविवार को कहा कि उन्होंने भारतीय फार्मास्यूटिकल फर्म भारत बायोटेक से कोरोनावायरस (Coronavirus Vaccine) की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) की 50 लाख डोज की खरीद को लेकर बातचीत की है. DCGI ने रविवार को कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है.

यह भी पढ़ें

ब्राजील एसोसिएशन ऑफ वैक्सीन क्लीनिक्स (ABCVAC) ने अपनी वेबसाइट पर पुष्टि की है कि उन्होंने कोवैक्सीन की खरीद को लेकर भारत बायोटेक के साथ MoU साइन किया है. ब्राजील की स्वास्थ्य नियामक इकाई द्वारा मंजूरी मिलने के बाद इस डील पर मुहर लग जाएगी.

असम : पहले चरण में इन लोगों को दी जाएगी कोरोना वैक्सीन, तैयार हो रही लिस्ट

ABCVAC ने बताया कि संपन्न परिवार से आने वाले ब्राजीलियन प्राइवेट हेल्थ क्लीनिक पर भरोसा करते हैं. ऐसे में सरकार से इतर वह प्राइवेट क्लीनिक में वैक्सीन लगवाने में दिलचस्पी दिखाएंगे. ABCVAC के अध्यक्ष गेराल्डो बारबोसा ने भारतीय वैक्सीन पर विश्वास जताया है. उन्होंने कहा कि उनका सौदा सरकार की किसी भी डील में हस्तक्षेप नहीं करेगा क्योंकि यह अतिरिक्त तौर पर किया जा रहा है.

डॉ हर्षवर्धन ने बताया किस तरह COVISHIELD को मिली मंजूरी COVAXIN से अलग है

Newsbeep

वहीं दूसरी ओर कोरोना महामारी और इसकी वैक्सीन कैंपेन को लेकर ब्राजील के राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro) की सरकार की जमकर आलोचना भी हो रही है. दरअसल अमेरिका के बाद कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें ब्राजील में ही हुई हैं. ब्राजील में इस COVID-19 के कारण अब तक 1,95,000 लोगों की मौत हो चुकी है. बोलसोनारो सरकार ने ऑक्सफोर्ड वैक्सीन की 100 मिलियन डोज की खरीद सुनिश्चित तो की है लेकिन अभी तक वैक्सीनेशन की तारीख का ऐलान नहीं किया है.

VIDEO: वैक्सीन पर सियासत तेज, सपा के बाद कांग्रेस के कई नेताओं ने जताया संदेह

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •