मस्जिद में टूटा हमलावरों का कहर, 16 नमाजियों को गोलियों से भूना, सामान भी लूटा

SHARE WITH LOVE


Image Source : AP REPRESENTATIONAL
नाइजीरिया के एक गांव में बंदूकधारियों ने मस्जिद पर हमला कर 16 लोगों की हत्या कर दी।

Highlights

  • नाइजीरिया के एक गांव में बंदूकधारियों ने मस्जिद पर हमला कर 16 लोगों की हत्या कर दी।
  • मोटरसाइकिलों पर सवार दर्जनों हमलावर गांव में घुसे और मस्जिद में इबादत कर रहे लोगों की हत्या कर दी।
  • नाइजीरिया पुलिस ने घटना की पुष्टि की, लेकिन मृतकों की संख्या केवल 9 बताई है।

लागोस: नाइजीरिया के एक गांव में बंदूकधारियों ने मस्जिद पर हमला कर 16 लोगों की हत्या कर दी जबकि अन्य का अपहरण कर लिया। स्थानीय सरकार के चेयरमेन अल हसन ईसा माजाकुका ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हमलावरों ने मस्जिद में इबादत कर रहे लोगों पर हमला किया और उन्हें मार डाला। इसके अलावा हमलावरों ने कई लोगों का अपहरण भी कर लिया। उन्होंने बताया कि यह हमला गुरुवार को नाइजर राज्य के मशेगु इलाके में बआरे गांव में हुआ।

‘नमाजियों की हत्या कर लूट लिया सामान’


माजाकुका ने कहा कि मोटरसाइकिलों पर सवार दर्जनों हमलावर गांव में घुसे और मस्जिद में इबादत कर रहे लोगों की हत्या कर उनका सामान लूट लिया। अधिकारी ने बताया, ‘वे (बंदूकधारी) काफी खतरनाक थे। उन्होंने हमारे 16 लोगों की हत्या कर दी और कई का अपहरण कर लिया। हम अपहरण किये गए लोगों की संख्या नहीं जानते।’ नाइजीरिया पुलिस ने घटना की पुष्टि की, लेकिन मृतकों की संख्या केवल 9 बताई है। बता दें कि नाइजीरिया की पुलिस पर पहले भी इस तरह की घटनाओं में मृतकों की संख्या कम बताने के आरोप लगते रहे हैं।

पिछले साल हुई थी 18 नमाजियों की मौत

इससे पहले 25 अक्टूबर को उत्तरी नाइजीरिया में सुबह की नमाज के दौरान एक मस्जिद पर बंदूकधारियों ने हमला कर दिया था, जिसमें 18 नमाजियों की मौत हो गई। यह हमला देश के नाइजर के माशेगू स्थानीय सरकारी क्षेत्र के माजकुका गांव में हुआ था। हमलावरों के जातीय फुलानी खानाबदोश चरवाहा समुदाय से होने का संदेह था, जो घटना के बाद मौके से फरार हो गए थे। बता दें कि इसी तरह की जातीय हिंसा में इस साल अब तक सैकड़ों लोगों की जान गई है।

दशकों से चले आ रहे संघर्ष का नतीजा है जातीय हिंसा

जातीय हिंसा की ये घटनाएं देश में पानी और जमीन के मुद्दे को लेकर दशकों से चल रहे संघर्ष का नतीजा हैं। संघर्ष का शिकार बने फुलानी समुदाय के कुछ लोगों ने स्थानीय होसा कृषक समुदाय के लोगों के खिलाफ हथियार उठा लिए हैं।





Source link


SHARE WITH LOVE