यूरोप में कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, पिछले सप्ताह नए मामलों में 11 प्रतिशत की वृद्धि

SHARE WITH LOVE


Image Source : AP
यूरोप में एक बार फिर कोरोना महामारी ने अपना कहर बरपाना शुरु कर दिया है।

Highlights

  • दुनिया का यह एकमात्र ऐसा क्षेत्र है जहां कोविड-19 के मामले अक्टूबर के मध्य से लगातार बढ़ रहे हैं।
  • WHO ने कहा कि वैश्विक स्तर पर संक्रमण के मामलों और मौतों में लगभग छह प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
  • पिछले सप्ताह संक्रमण के लगभग 36 लाख मामले आए तथा 51,000 लोगों की मौतें हुईं।

जिनेवा: यूरोप में एक बार फिर कोरोना महामारी ने अपना कहर बरपाना शुरु कर दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि पिछले सप्ताह यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई और दुनिया का यह एकमात्र ऐसा क्षेत्र है जहां कोविड-19 के मामले अक्टूबर के मध्य से लगातार बढ़ रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने मंगलवार को महामारी को लेकर अपने साप्ताहिक मूल्यांकन में कहा कि वैश्विक स्तर पर संक्रमण के मामलों और मौतों में लगभग छह प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पिछले सप्ताह संक्रमण के लगभग 36 लाख मामले आए तथा 51,000 लोगों की मौतें हुईं। 

डब्ल्यूएचओ के यूरोप के निदेशक डॉ. हैंस क्लूज ने आगाह किया है कि जल्द एहतियाती कदम नहीं उठाए गए तो महाद्वीप में वसंत के मौसम तक 700,000 और मौतें हो सकती हैं। क्लूज ने कहा, ‘‘यूरोपीय क्षेत्र कोविड-19 महामारी की मजबूत गिरफ्त में बना हुआ है।’’ उन्होंने देशों से वैक्सीनेशन बढ़ाने और लॉकडाउन के अंतिम उपाय से बचने के लिए मास्क लगाने तथा सामाजिक दूरी जैसे अन्य उपाय का पालन करने का आह्वान किया। 

क्लूज ने कहा कि डब्ल्यूएचओ के मध्य एशिया तक फैले यूरोपीय क्षेत्र में वैक्सीन की एक अरब से अधिक खुराक दी गई है। पिछले सप्ताह में, ऑस्ट्रिया, नीदरलैंड और बेल्जियम ने कोरोना वायरस के मामलों में हो रही वृद्धि को रोकने के लिए आंशिक लॉकडाउन सहित सभी कठोर उपायों को अपनाया है। जर्मनी में भी इस सप्ताह मौत की संख्या 1,00,000 से अधिक होने की आशंका है। 

डब्ल्यूएचओ ने बताया कि विश्व स्तर पर, दक्षिण पूर्व एशिया और पश्चिम एशिया में कोविड-19 के मामलों में क्रमशः 11 प्रतिशत और नौ प्रतिशत की गिरावट आई है। पिछले सप्ताह में कोरोना वायरस के संक्रमण से होने वाली मौतों में सबसे बड़ी कमी अफ्रीका में देखी गई, जहां मृत्यु दर में 30 प्रतिशत की गिरावट आई। जून के अंत से वहां मामले कम होने लगे। 

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि अमेरिका में संक्रमण के मामले स्थिर रहे और मौतों की संख्या में लगभग 19 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि आसानी से फैलने वाला डेल्टा स्वरूप वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस का प्रमुख स्वरूप बना हुआ है। 

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि पिछले सप्ताह सार्वजनिक रूप से उपलब्ध डेटाबेस पर अपलोड 840,000 से अधिक जीनोम अनुक्रमण मामलों में से करीब 99.8 प्रतिशत मामले डेल्टा स्वरूप के थे। म्यू, लैम्ब्डा और गामा सहित कोरोना वायरस के अन्य स्वरूपों का योगदान एक प्रतिशत से भी कम है। हालांकि, लातिन अमेरिका में नमूनों के जीनोम अनुक्रमण में इन स्वरूपों का बड़ा अनुपात है।





Source link


SHARE WITH LOVE