वोटरों को लुभाने के लिए पैसे का इस्तेमाल नहीं करेगी जेडपीएम पार्टी: सपदंगा

SHARE WITH LOVE


आइजोल: जोरम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) के कार्यकारी अध्यक्ष के सपदंगा ने बोला कि मिजोरम लगातार 30 वर्ष से अधिक समय से मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) और कांग्रेस पार्टी के गुलाम रहा है, लेकिन उनके शासन में कुछ भी नहीं बदला है उन्होंने बोला कि उनकी पार्टी नयी व्यवस्था स्थापित कर प्रदेश के सियासी क्षेत्र में ”परिवर्तन” लाने के लिए कटिबद्ध है.

हम उनकी (एमएनएफ और कांग्रेस) की तरह विकास के नाम पर ‘मौद्रिक वितरण’ की नीति का पालन नहीं करेंगे.‘ लोगों के दिमाग को ही भ्रष्ट कर दिया है, जिसने बदले में प्रदेश की पूरी सियासी व्यवस्था को प्रभावित किया है. गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी ने अपने प्रमुख प्रोग्राम नयी भूमि उपयोग नीति (एनएलयूपी) के अनुसार 2008 और 2018 के बीच अपने 10 सालों के शासन के दौरान 1 लाख योजना के अनुसार पात्र लाभार्थियों को वितरित किया गया, जिसे बाद में नयी आर्थिक विकास नीति (एनईडीपी) में परिवर्तित कर दिया गया.

2018 के चुनाव अभियान के दौरान, एमएनएफ ने यह भी वादा किया था कि वह अपने प्रमुख प्रोग्राम सामाजिक-आर्थिक विकास नीति (एसईडीपी) के अनुसार पात्र परिवारों को 3 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगा. हालांकि, एमएनएफ ने दिसंबर 2018 में सरकार बनाने का निर्णय किया. यह कहने के बाद कि सहायता परियोजना-आधारित आधार पर वितरित की जाएगी, लेकिन “नकद” पर नहीं. सपदंगा ने बोला कि उनकी पार्टी मतदाताओं को लुभाने के लिए विकास के बहाने पैसे का इस्तेमाल नहीं करेगी.



Source link


SHARE WITH LOVE