15 साल के भाई-बहन कोरोना संकट में भारत की मदद के लिए आए आगे, जुटाए 2,80,000 डॉलर

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


भारत में चिकित्सकीय आपूर्ति के लिए भाई-बहनों ने जुटाए 2,80,000 डॉलर.

नई दिल्ली:

तीन भारतीय-अमेरिकी भाई-बहनों ने भारत में कोविड-19 मरीजों के लिए आवश्यक चिकित्सकीय ऑक्सीजन भेजने के मकसद से 2,80,000 डॉलर से अधिक राशि जुटाई है. गैर लाभकारी संगठन ‘लिटिल मेंटर्स’ के संस्थापकों जिया, करीना और अरमान गुप्ता ने अपने स्कूली मित्रों और उनके परिवारों की मदद से यह राशि एकत्र की, ताकि वे दिल्ली और इसके आस-पास के अस्पतालों में जरूरतमंद मरीजों के लिए ऑक्सीजन सांद्रक और वेंटिलेटर जैसे जीवन रक्षक उपकरणों का प्रबंध कर सकें. इन बच्चों की आयु 15 साल है.

यह भी पढ़ें

तीनों बच्चों ने कहा, ‘‘हमारा एकमात्र अनुरोध यह है कि इन उपकरणों की जब आवश्यकता न हो, तो उन्हें लौटा दिया जाए, ताकि और कोई मरीज इनका इस्तेमाल कर सके.”

उन्होंने कहा, ‘‘यह इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इन उपकरणों का अभाव है और प्रभावित आबादी बहुत अधिक है.”

भाई-बहनों ने कहा कि वे जरूरतमंद लोगों संबंधी आंकड़ा तैयार करेंगे, ताकि आपूर्ति को उचित तरीके से मुहैया कराया जा सके और इसके लिए उन्हें सभी की मदद की आवश्यकता होगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •