US में COVID-19 से हुई मौतों का आंकड़ा 5 लाख पहुंचा, स्थिति सामान्य होने में लग सकता है एक साल

SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


US Coronavirus : अमेरिका में कोविड से मौतों के आंक़ड़े 5 लाख के करीब पहुंचे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वॉशिंगटन:

यूनाइटेड स्टेट्स में कोविड-19 के चलते हुई मौतों का आंकड़ा रविवार को 5 लाख के आंकड़े के करीब पहुंच गया. US के टॉप वायरस एक्सपर्ट एंथनी फाउची ने इसे बहुत दुखद बताया. उन्होंने कहा कि वहां स्थिति सामान्य होने में एक साल लग सकता है. अमेरिका में वैक्सीनेशन शुरू होने और ठंड की वजह से बढ़े मामलों में कमी आने की वजह से नए कोविड मामलों में गिरावट आई है, लेकिन यहां दुनिया में कहीं से भी ज्यादा संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं और कोविड से मौतें हुई हैं. 

यह भी पढ़ें

चीफ मेडिकल एडवाइज़र एंथनी फाउची ने NBC के “Meet The Press” शो में कहा कि ‘यह बहुत दुखद है. ऐतिहासिक है. हमने 1918 के इंफ्लुएंजा महामारी के बाद अगले 100 सालों में कभी ऐसा नहीं देखा है.’ उन्होंने कहा कि ‘आप आंकड़ों पर नजर डालें तो ये हैरान करने वाले हैं, लगभग अविश्वसनीय हैं, लेकिन यही हकीकत है.’ 

बता दें कि जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की कोविड ट्रैकिंग वेबसाइट पर अमेरिका में रविवार को मौतों का आंकड़ा 498,000 पर पहुंच गया. अमेरिका में कोविड-19 से पहली मौत फरवरी, 2020 में हुई थी. अगले तीन महीनों में ही यहां पर मौतों का आंकड़ा 1 लाख के पार पहुंच गया था.

यह भी पढ़ें : Texas Power Outage : US के टेक्सस में भयंकर बिजली संकट, आखिर क्यों 40 लाख लोग अंधेरे में रहने को मजबूर?

Newsbeep

पहले वेव में न्यूयॉर्क सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ था, लेकिन संक्रमण तेजी से दूसरी जगहों पर भी फैला, और फिर मौतों का आंकड़ा भी बढ़ा. छुट्टियों के बाद तक यह आंकड़ा 4 लाख के पार पहुंच गया.

फाउची ने कहा कि देश में नए मामलों में कमी देखी जा रही है. जनवरी में यहां मामले काफी बढ़ गए थे, लेकिन उन्होंने कहा कि अभी हालात सामान्य होने में फिर भी काफी वक्त है. उन्होंने CNN’ के “State of the Union” शो में कहा कि ‘मुझे लगता है कि इस साल पतझड़ और ठंड के मौसम तक पहुंचते-पहुंचते हम सामान्य स्थिति में पहुंच पाएंगे.’

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link


SHARE WITH LOVE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •